ट्रंप ने मारी बाजी, किम जोंग परमाणु हथियारों के खात्मे पर राजी, सिंगापुर समझौते पर हस्ताक्षर

सिंगापुरः अमेरिकी प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के बीच भारतीय समय के अनुसार मंगलवार सुबह ऐतिहासिक मुलाकात हुई। दोनों के बीच दो बार मीटिंग हुई जिसमें पहली मीटिंग 50 मिनट की और दूसरी 41 मिनट की हुई। 

दो बार मीटिंग करने के बाद दोनों नेताओं ने साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमें उन्होंने सिंगापुर समझौते पर हस्ताक्षर किया। 

समझौता पत्र में अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप और नॉर्थ कोरियाई लीडर किम जोंग उन ने साइन किया। इसे सिंगापुर समझौता का नाम दिया गया है।  

दोनों नेताओं के बीच एक व्यापक दस्तावेज पर हस्ताक्षर हुए हैं। जिसमें परमाणु हथियारों के खात्मे का अहम करार भी शामिल है। समझौते के अनुसार, उत्तर कोरिया अपना परमाणु हथियारों को एक चरणबद्ध तरीके से खत्म करेगा। उधर, अमेरिका दक्षिण कोरिया के साथ सैनिक अभ्यास पर रोक लगाएगा। 

उत्तर कोरिया के परमाणु निरस्त्रीकरण पर ट्रंप ने कहा कि हमने एक विशेष अनुबंध तैयार किया है और निरस्त्रीकरण की प्रक्रिया बहुत ही जल्द शुरू हो जाएगी।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान किम ने कहा हम एक बड़ी समस्या का हल करने जा रहे हैं, दुनिया एक बड़ा बदलाव देखेगी।

साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों ने राष्ट्रपति ट्रंप से ये पूछा, क्या वह किम जोंग उन को व्हाइट हाउस बुलाएंगे तो उन्होंने जवाब दिया, बिल्कुल, क्यों नहीं।

किम जोंग उन से दोबारा मुलाकात करने के सवाल पर डोनाल्ड ट्रंप ने कहा हम फिर मिलेंगे और कई बार मिलेंगे। उन्होंने कहा कि किम जोंग अपने देश से बहुत लगाव रखते हैं। 

किम जोंग उन ने डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात को ऐतिहासिक बताया। प्रेस कॉनफ्रेंस के बाद ट्रंप ने कहा,  किम ने एक दस्तावेज पर साइन करके कोरिया में परमाणु निरस्त्रीकरण का वादा किया है।