प्रोफेसर स्टीफन हॉकिंग का 76 साल की उम्र में निधन,पीएम मोदी ने जताया दुख

नई दिल्ली. प्रोफेसर स्टीफन हॉकिंग का 76 साल की उम्र में निधन हो गया है। स्टीफन हॉकिंग के निधन की पुष्टी बुधवार उनके परिवार की ओर से की है। बता दें कि हॉकिंग मूल रूप से ब्रिटेन के रहने वाले थे। पीएम मोदी ने उनके निधन पर दुख जताया है। 

-परिवार के प्रवक्ता के मुताबिक, बुधवार की सुबह अपने घर कैंब्रिज में हॉकिंग ने अंतिम सांस ली। 

-स्टीफन हॉकिंग के बच्चों ने बयान में कहा कि 'हम पिता के जाने से बेहद दुखी हैं। वह महान वैज्ञानिक थे और असाधारण इंसान थे, जिनका काम और विरासत आने वाले सालों में भी जाना जाएगा।' 

-हॉकिंग का जन्म इंग्लैंड के ऑक्सफोर्ड में 8 जनवरी 1942 में हुआ था। 

-स्टीफन हॉकिंग ने ब्लैक होल और बिग बैंग सिद्धांत को समझने में अहम योगदान दिया है। उनके पास 12 मानद डिग्रियां हैं और अमरीका का सबसे उच्च नागरिक सम्मान उन्हें दिया गया है।

-स्टीफन हॉकिंग की ब्रह्मांड के रहस्यों पर किताब 'ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम’ भी दुनिया भर में काफी मशहूर हुई थी।'