हिन्दू परिवार ने दान में दी मस्जिद को जाने वाले रास्ते की जमीन

संत कबीरनगरः मैं मुस्लिम हूँ, तू हिन्दू है, हैं दोनों इंसान, ला मैं तेरी गीता पढ़ लूँ, तू पढ़ ले मेरा कुरान,

अपने तो दिल में है दोस्त, बस एक ही अरमान, एक थाली में खाना खाये सारा हिन्दुस्तान।

ऐसी ही इंसानियत की सोच लेकर चलने वाले  यहां के एक हिन्दू परिवार ने मस्जिद तक जाने के लिए अपनी जमीन दान करके एकता की मिसाल पेश की। परिवार की इस पहल के लिए खूब तारीफ हो रही है। लोगों का कहना है कि उन्होंने ऐसे समय मिसाल पेश की जब देश में कुछ धर्म के ठेकेदार एक दूसरे में खाई पैदा करने की कोशिश में लगे हुए हैं।

संत कबीरनगर जिले के सिमरियावां ब्लॉक में आने वाले थवईपार गाँव के एक ही हिंदू परिवार के 4 लोगों ने मस्जिद तक जाने के लिए अपनी जमीन दान कर दी है।

इससे नमाजियों को और ग्रामीणों को आने जाने में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं हो रही है। गांव के बीचो-बीच एक मस्जिद स्थित है और गांव के चारों तरफ मुस्लिम की आबादी भी है और इस मस्जिद तक जाने के लिए एक रास्ता पहले से मौजूद है लेकिन कुछ लोगों को मस्जिद तक जाने के लिए घूम कर जाना पड़ता था।

इसी परेशानी को देखते हुए गांव के ही हिंदू परिवार नकछेद सिंह सहित 4 लोगों ने अपनी जमीन दान कर दी। 

ग्राम प्रधान द्वारा उस जमीन पर खड़ंजा लगाकर रास्ता बना दिया गया, जिससे नमाजियों को मस्जिद तक जाना आसान हो गया। 

वही इस रास्ते के बन जाने से गांव के सभी ग्रामीण  काफी खुश हैं  और उनका मानना है कि  जिस तरह से हिंदू परिवार ने मस्जिद जाने के लिए अपनी जमीन को दान कर दी, वो पूरे देश में कौमी एकता की मिसाल बन गई है। वर्षों तक लोगों को सीख देती रहेगी। 

जमीन दान करने वाले ग्रामीण नकछेद सिंह कहते हैं कि हिंदू मुस्लिम किसी के माथे पर लिख कर नहीं आया है और वह सभी एक हैं और पूरे देश में सभी लोगों को मिल जुलकर रहना चाहिए।