झोलाछाप डॉक्टर ने बिना जांच कराए किया महिला का ऑपरेशन,गर्भाशय निकालने के बाद...

रायबरेली: यहां एक झोलाछाप डॉक्टर की शर्मनाक करतूत सामने आई है। डॉक्टर ने एक महिला का बिना किसी एक्सरे व अल्ट्रासाउंड कराए ही उसका ऑपरेशन कर गर्भाशय निकाल दिया और इसके बाद उसका प्राइवेट पार्ट सिल दिया। जब यह बात महिला को पता चली तो उसने आलाधिकारियों के सामने न्याय की गुहार लगाई। मगर किसी ने भी उसकी एक न सुनी। अब महिला दर-दर भटकने को मजबूर है। 

-दरअसल, यह मामला रायबरेली जिले के शिवगढ़ थाना क्षेत्र का है। यहां भवानीगढ़ चौराहे पर स्थित पंकज पाली क्लीनिक है। 

-घटना एक साल पहले की है. जब शिवगढ़ थाना क्षेत्र के भवानीगढ़ की रहने वाली रामदुलारी के पेट मे दर्द की शिकायत रहती थी। ऐसे में वह डॉक्टर पंकज के पास गई और उसे अपनी समस्या डॉक्टर को बताई।

-आरोप है कि डॉक्टर ने रामदुलारी को दवा दी और बिना एक्सरे, अल्ट्रासाउंड के ही पेट मे खून का थक्का होने की बात कह कर ऑपरेशन कर दिया। इतना ही नहीं उसने महिला का गर्भाशय निकाल लिया और उसके प्राइवेट पार्ट को भी सिल दिया। जिससे उसे असहनीय पीड़ा होने लगी। इसकी शिकायत लेकर वो बार-बार फरियाद लेकर डॉक्टर के पास गई। कितु वहां से इसे भगा दिया गया। 

 

सीएम से भी लगाई न्याय की गुहार 

-महिला ने आरोप लगाते हुए शिवगढ़ थानाध्यक्ष, मुख्यमंत्री, मानवाधिकार आयोग आदि को लिखित शिकायती पत्र भेजकर शिकायत की है। लेकिन किसी ने आरोपी डॉक्टर के लिए खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। 

-विड़म्बना है कि दो दिनों से शिवगढ़ थाने के चक्कर काट रही है। लेकिन उसकी कोई सुनने वाला नहीं है।

-पीड़ता जब दोबारा शिवगढ़ थाने शिकायत करने पहुंची तो शिवगढ़ पुलिस द्वारा पीड़िता को थाने से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। 

-पीड़िता का आरोप है कि शिवगढ़ पुलिस आरोपी डॉक्टर से मिली हुई है और मामले को दबाने की कोशिश कर रही है। 

-पीड़िता ने बताया कि वह एक साल से न्याय के लिए दर-दर की ठोकरें खा रही है किन्तु उसकी कोई सुनने वाला नहीं है। 

 

ये बोले मुख्य चिकित्साधिकरी 

-जब इस मामले में मुख्य चिकित्साधिकारी से बात की गी तो उन्होंने तुरंत अपने नोडल अधिकारी से कार्यवाई करने की बात कही।