योगी सरकार ने उडाया किसानों का मजाक: 1 लाख की जगह 3 रु का कर्ज माफ, सर्टिफिकेट देख रो पड़ा किसान

इटावा. विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान ही पीएम मोदी और बीजेपी के लीडर कर्ज माफी की बात कर रहे थे। किसानों के हित के लिए कई कदम उठाने का दावा कर रहे थे। बहुमत की सरकार बनने के बाद सीएम योगी ने छोटे किसानों के कर्ज को माफ करने की घोषणा की थी। 1 लाख रुपए तक के कर्ज को माफ करने का आदेश जारी किया गया था। लेकिन, इटावा के एक किसान का कर्ज तो माफ हुआ। लेकिन, 1 लाख नहीं महज 3 रुपए।

सर्टिफिकेट देख लोग उड़ाने लगे मजाक

- यहां के नगला अति में रहनेवाले किसान रमेश यादव को लेखपाल ने सर्टिफिकेट दिया।

- लेखपाल ने कहा कि आपका कर्ज माफ कर दिया गया है। कर्जमाफी का सर्टिफिकेट दिया जा रहा है।

- पहले तो किसान खुश हो गया है। लेकिन, सर्टिफिकेट पर 3 रुपए देखकर उसके होश उड़ गए।

- बैचन किसान की आंखों से आंसू आ गए। वो लेखपाल के सामने ही रो पड़ा।

- परेशान होकर रमेश लोगों से पूछने लगा कि ये कैसी कर्जमाफी हुई है।

- 3 रुपए की कर्जमाफी की बात सुन बड़ी संख्या में लोग जुट गए। 

- हर कोई योगी सरकार की ओर से दिए गए सर्टिफिकेट को देख तंज कस रहा था।

- लोग सीएम योगी पर किसानों का मजाक उड़ाने का आरोप लगाने लगे।

- ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने वोट लेने के बाद किसानों का मजाक उड़ाया है।

 

अफसरों ने बात करने से किया इनकार

- वहीं, मामले से जुड़े अफसरों ने 3 रुपए के कर्ज माफी पर कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया।

- पत्रकारों से भी बात करने से अफसरों ने मना कर दिया।

- इससे साफ हो गया कि प्रदेश की सरकार किस तरह से किसानों की भलाई कर रही है।

- कर्जमाफी के नाम पर किस तरह का खेल चल रहा है।