कालपी के तरीबुल्दा मोहल्ले में महिला ने किया चोटी कटने का दावा।



महिला ने बताया कि चोटी कटने के बाद शरीर मे शिथिलता महसूस हुई।


कालपी (जालौन) - जहां एक ओर शासन प्रशासन चोटी कटने जैसी कोई भी बात लगातार एक सिरे से खारिज कर रहा है वहीं चोटी कटने की घटनाओं का सिलसिला लगातार जारी है।
फिर भी अभी तक ऐसे मामलों पर किसी तरह की कोई जांच नही हुई है। आखिर इन मामलों के पीछे की हकीकत है क्या यह सवाल लगातार बना हुआ है व कोई भूत प्रेत के कारनामे की बात करता है तो कोई दैवीय आपदा का नाम देता है तो कोई अजीबोगरीब कीड़े द्वारा बाल काटने की बात कही जाती है।
 वहीं कालपी नगर के तरीबुल्दा मोहल्ले में आज एक मामला प्रकाश में आया है जिसमे विजय सिंह यादव की पत्नी पूर्व सभासद मुन्नी देवी ने दावा किया कि दोपहर तकरीबन 12 बजे वे सोयीं व सोये हुए बमुश्किल 5 मिनट ही हुए थे कि उनको घबराहट हुई व शरीर मे तेज़ झुनझुनाहट महसूस हुई तो उन्होंने बिस्तर से उठने पर पाया कि उनकी चोटी कटी हुई पड़ी हुई थी। जिसके बाद वे अपना मानसिक संतुलन खो बैठीं व करीब आधे घंटे बाद ही मानसिक स्थिति सामान्य हुई। उन्होंने बताया कि जिस वक्त यह घटना हुई इस वक्त घर मे वे अकेली थीं व घर के दरवाजे भी बंद थे व आसपास देखने पर बाल काटने वाला कोई भी व्यक्ति या कीड़ा आदि भी नज़र नही आया।

⚠⚠⚠⚠⚠⚠⚠⚠