जीएसटी के लागू होने से छोटे किसानो को होगा भारी नुकसान - सुनील जाखड़

एनएनआई   ( गुरदासपुर)     

जी एस टी के लागू होने पर छोटे किसान को भारी नुकसान होने वाला है और सबसे ज्यादा नुकसान पंजाब के किसानो को होगा और इस मामले में पंजाब के मुख्या मंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह जल्द केंद्र सरकार की फाइनेंस मिनिस्ट्री की जी एस टी कौंसिल से मिल कर निमयों को बदलने की मांग करेंगे यह कहना है पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रधान सुनील जाखड़ का वहीँ इस के साथ ही अपनी विरोधी पार्टी अकाली दल पर टिपणी करते हुए सुनील जाखड़ ने कहा की पिछले दिनों में यह सामने आया है की अकाली दल पार्टी में काफी खींच तन चल रही है और इस से यह साफ़ है की आने वाले दिनों में अकाली दल पार्टी के ही नेता सुखबीर सिंह बादल को पार्टी से दर किनारे करने वाली है। 

गुरदासपुर में कांग्रेस पार्टी की तरफ से एक विशेष वर्कर मीटिंग की गई जिस में गुरदासपुर के अलग अलग हलकों के विधयक शामिल हुए और वहीँ बड़ी गिनती मे वर्कर भी शामिल हुए वहीँ इस मीटिंग को सम्बोधन करने विशेष तौर पर पंजाब प्रदेश कांग्रेस पार्टी के प्रधान सुनील जाखड़ पहुचे ,उनके साथ मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा , अरुणा चौदरी ,विधयक सुखजिंदर सिंह रंधावा ,बरिंदर मीत सिंह पह्ड़ा और अन्य ने मीटिंग को सम्बोधन किए ,वहीँ मीटिंग के उपरांत पतरकारो से बातचीत करते हुए पंजाब प्रदेश कांग्रेस पार्टी के प्रधान सुनील जाखड़ ने कहा की यहाँ इस बजट में पंजाब के किसानो का क़र्ज़ माफ़ी का फैसला लिया गया है वहीँ नौजवानो को रोजगार देने के लिए भी सरकार की तरफ से कदम आगे बढ़ाते हुए अलग अलग कम्पनियो से बातचीत की गई है जिसके चलते पंजाब के नौजवानो को ट्रेक्टर और गाड़िया सरकार खुद की जिमेवारी पर लोन पर लेकर देगी। वहीँ इस के साथ ही जी एस टी पर सुनील जाखड़ का कहना था की कांग्रस की सरकार की तरफ से ही बिल पेश किया गया था लेकिन तब 18 फीसदी से जियादा जी एस टी की बात नहीं थी लेकिन अब जो जीएसटी लागू होने जा रहा है उस में कही 28 फीसदी है तो कही 18 फीसदी और पेट्रोल -डीज़ल को बहार किया गया है जो गलत है इस के साथ ही सुनील जाखड़ का कहना था की जी एस टी लागु होने पर छोटे किसान को भारी नुकसान होने वाला है और सबसे जियादा नुकसान पंजाब की किसानी को होगा और इन सभी मामलो में पंजाब के मुख्या मंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह जल्द केंद्रे सरकार की जी एस टी कौंसिल से मिल कर निमयों को बदलने की मांग करेंगे। 

वहीँ इस के साथ ही अकाली दल पार्टी पर टिपणी करते हुए सुनील जाखड़ ने कहा की पिछले कुछ दिनों से यह सामने आ रहा है की अकाली दल में आपसी खींचतान शुरू हो चुकी है और किरपाल सिंह बंडूगर और सुखबीर सिंह बादल आमने सामने है और दोनों के बिच में एक दूसरे के बिच में आगे निकलने की दौड़ लगी हुई है। और सुनील जाखड़ ने कहा की अब सुखबीर सिंह बादल को भी यह नजर आ रहा है की पार्टी में उनकी जगह खतम होने को है और जाखड़ का कहना था की ऐसा लग रहा है की आने वाले समय में अकाली दल में सुखबीर सिंह बादल को दर किनारे कर बड़ा बदलाव होने वाला है