CBI ने सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के कुछ अधिकारियों घर मारा छापा

एन.एन.आई। सीबीआई ने सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (पुणे) के सहायक महाप्रबंधक एजी सावंत और सीनीयर मैनेजर विद्याधर पेडनेकर के खिलाफ धोखाधड़ी और सरकार को नुकसान करने का मामला दर्ज किया है। इस मामले में आज CBI ने मुंबई और नासिक के बैंक अधिकारियों के आवासीय परिसर में और अन्य आरोपियों के कार्यालय और घरों पर छापा भी डाला।

जानकारी के मुताबिक आरोप है कि इन लोगों ने पुणे मे तकनीकी शिक्षा सोसाइटी के अध्यक्ष और चीफ मैनेजिंग ट्रस्टी एमएन नवले के साथ मिलकर साजिश रची और सरकार को 58 करोड़ रूपयों का चूना लगा दिया. आरोपों के मुताबिक नवले ने सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, मिड-कॉरपोरेट शाखा, एमजी रोड (पुणे) में लोन के लिये आवेदन किया और लोन के लिए फर्जी कागजातों का इस्तेमाल किया।

दरअसल एमएन नवले ने बैंक को बताया कि उसे डेंटल कॉलेज और हास्पिटल बनाने के लिये पैसों की जरूरत है और उसके लिेए तमाम गारंटी के कागजात भी दिए। आरोप के मुताबिक सारे दस्तावेज नकली थे और उस बैंक में काम कर रहे एजीएम एजी सावंत और सानियर मैनेजर विद्याधर पेडनेकर ने कागजों की जांच किए बगैर करीब 81 करोड़ रूपए का लोन दे दिया। यही नही इन लोगों ने दूसरे बैंको से लिया गया करीब 21 करोड़ रूपए का लोन भी टेकओवर कर लिया।